सोलन -  दिनांक 13.08.2017-सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. कर्नल धनीराम शांडिल ने कहा कि हिमाचल में सड़कें विकास का पर्याय हैं तथा प्रदेश सरकार यह सुनिश्चित बना रही है कि प्रदेश के सभी गांव को सम्पर्क सुविधा प्राप्त हो। डॉ. शांडिल आज सोलन विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत शमरोड़ के धारों की धार में विभिन्न लोकार्पण करने के उपरान्त उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित कर रहे थे।

डॉ. शांडिल ने इस अवसर पर 08 लाख 18 हजार रुपए की लागत से स्थापित 100 के.वी ट्रांसफार्मर तथा धारों की धार से थड़ा तक 2 लाख रुपए की लागत से निर्मित एम्बुलैंस मार्ग का लोकार्पण किया। इस ट्रांसफार्मर की स्थापना से क्षेत्र में लोगों को बेहतर विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित होगी तथा कम वोल्टेज की समस्या भी दूर होगी। 
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार के पौने पांच वर्ष के कार्यकाल में 2000 किलोमीटर नई सड़कें व 204 पुल निर्मित कर 864 गांवों को सड़कों से जोड़ा गया है। प्रदेश की 3226 पंचायतों में से 3138 पंचायतों को वाहन योग्य सड़क से जोड़ा जा चुका है तथा 74 पंचायतों को सड़कों से जोड़ने का कार्य प्रगति पर है। उन्होंन कहा कि सोलन जिले की सभी 211 पंचायतों को सड़क सुविधा प्रदान कर दी गई है। सोलन जिले में पिछले पौने पांच वर्षों में लोक निर्माण विभाग द्वारा विभिन्न निर्माण कार्याें पर 281 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। 
डॉ. शांडिल ने कहा कि प्रदेश सरकार ग्रामीण विकास में ग्रामीणों की भागीदारी सुनिश्चित बना रही है। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए अनेक विभागों की सेवाएं पंचायतोें को हस्तांतरित की गई हैं। 
उन्होंने इस अवसर शील से धारों की धार तक सड़क निर्माण के लिए दो लाख रुपए, कूहट खाल्टू में शमशान घाट के निर्माण के लिए एक लाख रुपए तथा धारों की धार-थड़ा मार्ग के रख-रखाव के लिए एक लाख रुपए प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियन्ता को निर्देश दिए कि शील से धारों की धार तक सड़क के कार्य को शीघ्र आरम्भ किया जाए।
ग्राम पंचायत शमरोड़ की प्रधान प्रतिभा चौधरी, ग्राम पंचायत नौणी के प्रधान तथा खण्ड कांग्रेस सोलन के अध्यक्ष बलदेव ठाकुर, शमरोड़ पंचायत के उप प्रधान राहुल मेहता, व्यापार मण्डल सोलन के सुशील चौधरी, बीडीसी सदस्य चन्दन महन्त, भाषा कला एवं संस्कृति अकादमी के सदस्य मदन हिमाचली, वार्ड सदस्य सुशील ठाकुर, रूप चन्द, लज्या देवी, पूर्व बीडीसी सदस्य सुरेन्द्र ठाकुर, विद्युत बोर्ड के एसडीओ जेएन धर्माणी सहित अन्य अधिकारी तथा ग्रामवासी इस अवसर पर उपस्थित थे। 
.0.