चंडीगढ़, 12 सितंबर-  मोतीलाल नेहरू खेल विद्यालय, राई को खेलों में विशिष्टता के लिए ही विकसित किया जाएगा और इसमें खेलों के लिए हर आधुनिक बुनियादी सुविधा प्रदान की जाएगी। यह निर्णय आज हरियाणा राजभवन में सम्पन्न स्कूल के स्पेशल बोर्ड की 53 वीं बैठक में किया गया। बैठक की अध्यक्षता राज्यपाल प्रो0 कप्तान सिंह सोलंकी ने की। इसमें खेल मंत्री अनिल विज, अतिरिक्त मुख्य सचिव खेल विभाग डाॅ0 के0के0 खण्डेलवाल, राज्यपाल के सचिव डाॅ0 अमित कुमार अग्रवाल, निदेशक खेल विभाग जगदीप सिंह, अतिरिक्त सचिव वित्त विभाग डाॅ0 शालीन, अतिरिक्त उपायुक्त सोनीपत सुजान सिंह, मोतीलाल नेहरू खेल विद्यालय, राई की निदेशक एवं प्राचार्या भारती अरोड़ा आदि ने भाग लिया।
 बैठक में खेल व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने स्कूल में बच्चों के स्वास्थ्य के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने की सहमति प्रदान कर दी। स्कूल की निदेशक एवं प्राचार्या भारती अरोड़ा ने स्कूल के बीच से गुजरने वाले जाखौली रोड को बंद करने का अनुरोध किया। इस पर राज्यपाल ने अतिरिक्त उपायुक्त सोनीपत को इस सड़क का विकल्प तलाश करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्कूल के बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए इसमें कोई भी बाहरी व्यवधान नहीं आना चाहिए। बैठक में निर्णय किया गया कि स्कूल में बच्चों को प्रवेश के लिए आयोजित परीक्षा की मैरिट के आधार पर ही प्रवेश दिया जाएगा और इसमें न्यूनतम अंकों की कोई शर्त नहीं रहेगी। स्कूल की दशा को तेजी से सुधारने के लिए बोर्ड की बैठक एक साल के लिए हर तिमाही में करने का निर्णय भी किया गया।
 स्कूल की निदेशक एवं प्राचार्या भारती अरोड़ा ने बैठक का एजेंडा रखते हुए स्कूल में शिक्षकों, कोच, स्टाफ आदि के नए पद सृजित करने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि 1978 में यहां 500 बच्चों को प्रवेश दिया गया था और शिक्षकों की संख्या 46 व कोच की 12 थी। अब बच्चों की संख्या बढकर 905 हो गई है जबकि उसके अनुपात में शिक्षकों, प्रशिक्षकों व अन्य स्टाफ के पद नहीं बढाए गए। इस पर राज्यपाल ने सभी पदों की आवश्यकता तय करने के लिए किसी विद्वान कंसलटेंट से परामर्श कर रेशनलाईजेशन करने के निर्देश दिए। स्कूल में कोच के पद को तृतीय से द्वितीय श्रेणी में करने हेतु भी सहमति प्रदान की गई।
 बैठक में स्कूल में अनेक आधुनिक खेल सुविधाएं, मशीनरी आदि प्रदान करने की स्वीकृति दी गई। इनमें हर मौसम में अनुकूल इनडोर स्वीमिंग पूल, आडिटोरियम व बहुउद्देशीय हाल को एयरकंडीशनन्ड करने, शूटिंग रेंज के लिए अत्याधुनिक टारगेट मशीन और हथियार खरीदने, घुड़सवारी के लिए आठ घोड़े खरीदने की अनुमति दी गई।
 बोर्ड की पिछली बैठक के दौरान लिए गए निर्णयों के कार्यान्वयन की भी समीक्षा की गई। निदेशक एवं प्राचार्या भारती अरोड़ा ने स्कूल की उपलब्धियों के बारे में भी विस्तार से बताया।