चण्डीगढ़, 23 सितम्बर - हरियाणा में जिला करनाल के तरावड़ी कस्बे के दो बच्चों, दिव्यम और नित्यम ने अपने गुल्लक से बचत की हुई 51,000 रुपये की राशि का एक चैक मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल को केरल के बाढ़ पीडि़तों की सहायतार्थ मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए सौंपा।

आज तरावड़ी कस्बे के ये दोनों बच्चे दिव्यम 12 वर्ष व नित्यम 8 वर्ष अपने दादा अनिल गुप्ता के साथ तरावड़ी विश्राम गृह में मुख्यमंत्री से मिलने पहुंचे। मुख्यमंत्री ने बच्चों के इस नेक कार्य के लिए उन्हें व उनके परिवार को बधाई दी और कहा कि समाज के अन्य बच्चों को भी ऐसे सामाजिक कार्यो के लिए इन बच्चों से प्रेरणा लेनी चाहिए।

बच्चों ने मुख्यमंत्री से मिलने का आग्रह किया और कहा कि उनके द्वारा 51 हजार रूपये की राशि अपने खर्चे में से बचाकर रखी गई है,उसे वह केरल के बाढ़ पीडि़तों के सहयोग के रूप में देना चाहते है। बच्चों की इस प्रेरणा को सुनकर मुख्यमंत्री ने बच्चों से पूछा की आप ऐसा क्यों कर रहे है। बच्चों ने कहा कि उन्हें यह प्रेरणा उनके दादा अनिल गुप्ता से मिली है कि उन्हें अपनी फिजूल खर्ची का बचाव करके समाज सेवा में लगाना चाहिए। इससे प्रेरित होकर उन्होंने पहले भी नेपाल में भूकम्प पीडि़तों की सहायता के लिए अपने गुल्लक की राशि सहयोग के रूप में भेजी थी। मुख्यमंत्री ने इन दोनों बच्चों व उनके दादा अनिल गुप्ता के समाज हितैषी कार्य की सराहना की और कहा कि समाज के अन्य बच्चों व लोगों को भी इनसे प्रेरणा लेनी चाहिए।

अनिल गुप्ता ने बताया कि वह भी जरूरतमंद लोगों की सेवा करते रहते है। पानी बचाव के लिए वह अपने बच्चों व परिवार के अन्य सदस्यों के जन्मदिन पर टूंटी खरीदकर लोगों में बांटते है ताकि पानी का व्यर्थ बहाव रोका जा सके। उन्होंने बताया कि स्कूलों में उनके द्वारा तरावड़ी व आस-पास के गांवों में 80 शौचालय बनाये गए है ताकि कोई भी बच्चा व व्यक्ति बाहर शौच ना करें।

इस मौके पर राष्ट्रीय सफाई आयोग के अध्यक्ष मनहरवाल भाई झाला, ओएसडी अमरेन्द्र सिंह, स्वच्छ भारत मिशन हरियाणा के कार्यकारी उपाध्यक्ष सुभाष चंद्र, भाजपा के जिलाध्यक्ष जगमोहन आनंद, जिला महासचिव योगेन्द्र राणा, भाजपा नेता अशोक सुखीजा,नगर निगम की पूर्व मेयर रेनू बाला, हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष प्रो०विरेन्द्र चौहान,राज सिंह चौहान, डीसी डा०आदित्य दहिया,एसपी सुरेन्द्र सिंह भौरिया उपस्थित थे।