चण्डीगढ़,20.07.19-: कॉलोनी नंबर 4 स्थित सरकारी हाई स्कूल के सामनें कांग्रेस के स्थानीय महासचिव शशिशंकर तिवारी, पारसनाथ यादव, संजय कुमार, राज बहादुर, ओमलाल, अरविंद सिँह, प्रेम कुमार, आर.पी शुक्ला, गुरुदेव यादव, सौरु यादव, बलबीर सिंह की अगुआई में स्कूल के बच्चों एवं इनके अभिभावकों ने आज भाजपा शासित चण्डीगढ़ प्रशासन के खिलाफ म कर नारेबाज़ी की ।
प्रदर्शनकारियों का कहना है कि कॉलोनी का पुनर्वास होना अच्छी बात है लेकिन बगैर मूलभूत सुविधाओं के पुनर्वास करना तानाशाही है। अभी जब मलोया में स्कूल तैयार ही नही है तो चार नं. कॉलोनी के बच्चे कहाँ पड़ेंगे।

कॉलोनी के तकरीबन 5000 से भी ज़्यादा बच्चे हैं जोकि कॉलोनी नंबर 4 कें ही सरकारी स्कूल में एवं सेक्टर 29, 28, 30, 46 मेंं स्थित सरकारी स्कूलो मेंं एवं प्राइवेट स्कूलों मेंं पढ़ रहे है ।
मलोया में जो स्कूल बने है वह अभी पूरी तरह तैयार नही हैं और प्रशासन कह रहा है कि झुग्गी को मात्र 3 दिन में खाली करके मलोया शिफ्ट हो जाओ, अन्यथा अलॉटमेंट केन्सिल कर दिया जाएगा। तिवारी ने कहा कि यह तुगलकी फरमान कॉलोनी नंबर 4 के निवासियों को बिल्कुल मंजूर नही है।
उन्होंने ने चंडीगढ़ के प्रशासक बी.पी सिंह बदनौर और एडवाईज़र मनोज परीदा से मांग की कि खुद मौक़े का दौरा करे और वहाँ के हालातों का जायज़ा ले। हज़ारों बच्चों कें भविष्य कें साथ खिलवाड़ न किया जाए और यह जो चंडीगढ़ प्रशासन क़ा आदेश है कि 3 दिन में कॉलोनी को खाली कर दे वह वापिस लिया जाए व साथ ही इस कॉलोनी को मार्च 2020 तक ना तोड़ा जाए ताकि जो भी बच्चे यहाँ आस पास पढ़ रहे हैं वह भी अपना पूरा साल निकाल कर अन्य स्कूल में शिफ़्ट हो सके।

तिवारी ने कहा कि लोकसभा चुनाव में भाजपा सांसद व भाजपा कें लोकल नेताओ ने वादा किया था कि कॉलोनीवासियों कें साथ धक्का शाही नही होने दिया जाएगाएवं 2019 तक सबको मकान दिया जाएगा । अब कॉलोनी नम्बर 4 कें किसी भी मुद्दे पर ना तो भाजपा सांसद , न ही कोई भाजपा का नेता बोल रहा है। कॉलोनीवासी दर-दर की ठोकरें खा रहे है। उन्होंने कहा कि मलोया में मकान मिल रहा है वो भी कॉंग्रेस कें समय में पवन कुमार बंसल कें प्रयासों की ही देन है ।