हमीरपुर, 18 अगस्त 2019 : भारतीय स्टेट बैंक ने अपने सभी क्षेत्रीय व्यवसाय कार्यालय हमीरपुर के अंतर्गत शाखाओ में विचार मंथन तथा राष्ट्रीय प्राथमिकताओ के सापेक्ष बैंक के निष्पादन की समीक्षा के लिए विचार सत्र का आयोजन किया, बैंक के आधारभूत स्तर से शीर्ष स्तर की बैंक की परामर्शी- प्रक्रिया के प्रथम चरण की रुपरेखा तैयार करने के प्रयास के रूप में यह विचार –सत्र अपनी तरह का प्रथम प्रयास है जो 17 और 18 अगस्त को पूरा हुआ ,

क्षेत्रीय व्यवसाय कार्यालय, हमीरपुर व इस कार्यालय के अधीन 23 शाखाओ के शाखा प्रबंधको एवं उच्च अधिकारी उपस्थित रहे,इस सत्र में लीडरशिप टीम से क्षेत्रीय प्रबंधक श्री पृथी सिंह राणा एव मुख्य प्रबंधक श्री मनोज मित्तल उपस्थित रहे.

इस बैठक के आयोजन का मुख्य उद्देश्य अर्थव्यवस्था के विभिन्न खंडो को ऋण वृद्धि के उपायों की पहचान करना, नवोंमेशिता के लिए टेक्नोलॉजी के प्रयोग को बढ़ावा देना, बैंकिंग को ग्राहक केन्द्रित तथा वरिष्ठ नागरिको, लघु उद्योगों, उद्यमों, युवाओ , छात्रो एवं महिलाओ की आवश्यकताओ और अकान्गक्षाओ के अनुकूल बनना था .

भारतीय स्टेट बैंक ने सभी के सहयोग से कार्यान्वित किए जाने वाले एवं नवोंमेशित ऐसे बहुत से सुझावों की पहचान की है जिनसे बैंक के निष्पादन में सुधर करने तथा भविष्य के रोडमैप की बुनियाद तैयार करने में सहायता मिलेगी. इन सुझावों को समेकित कर क्षेत्रीय/आंचलिक स्तर तक पहुंचाया गया है ताकि इन पर एसएलबीसी/ राज्य स्तर पर गहन चर्चा हो सके तथा प्रत्येक क्षेत्र की नियंत्रनाधीन शाखाओ के निष्पादन का तुलनात्मक मूल्यांकन किया जा सके . बैंक ने बाद में राष्ट्रिय स्तर पर अंत: एवं अंतर – बैंक निष्पादन की तुलना करने और अंतिम रूप से परामर्श करने का निर्णय लिया है , इसके बाद इन सुझावों को अंतिम रूप देकर सभी सार्वजानिक बैंको में इनके कार्यान्वयन की योजना तैयार की जाएगी.

इस परामर्शी प्रक्रिया के परिणामस्वरूप शाखा स्तर तक नवीकृत सहभागिता की भावना विकसित हुई है और बैंक अपने निष्पादन में सुधर करने तथा राष्ट्रिय प्राथमिकताओ के साथ तालमेल स्थापित करने के लिए तैयार हुआ है ताकि वह भारत की विकास – गाथा में सहभागिता की अपनी भूमिका का निर्वाह कर सके.